Phirse Wohi Lyrics in Hindi - Hansraj Raghuwanshi

Phirse Wohi Lyrics

Phirse Wohi Lyrics is the Latest current Fact telling and Praying song in Hindi sang by Hansraj Raghuwanshi. Lyrics are penned by Hansraj Raghuwanshi. "Phirse Wohi" Song is composed by Hansraj Raghuwanshi and Music by Adamya Sharma. This is song is Shoot on Mobile during this lockdown period. Stay Home Stay safe.

Hansraj Raghuwanshi Songs

Phirse Wohi Lyrics in Hindi -Hansraj Raghuwanshi -SignatureLyrics

Song Credits -
Song : Phirse Wohi
Singer : Hansraj Raghuwanshi
Song Lyrics : Hansraj Raghuwanshi
Music/Composer : Hansraj Raghuwanshi, Adamya Sharma
Music Label : Hansraj Raghuwanshi
Release Year : 2020

Phirse Wohi Lyrics


Play "Phirse Wohi"
On Jio Saavn

ये ये ओ
ना रे ना ना रे
वोह..... हो...

सन्नाटा ही सन्नाटा है
गलियोंमें है तनहाई
सन्नाटा ही सन्नाटा है
गलियोंमें है तनहाई

शहरो को छोड़ छाड़ कर
आज गाओं की याद है आयी

शहरो को छोड़ छाड़ कर
आज गाओं की याद है आयी

फिर से वही महका सा आँगन हो

जब चाहे उड़ जाए
जब चाहे मूड जाए
जब चाहे उड़ जाए
जब चाहे मूड जाए
अपने देस को

कुदरत को लूटा
मानुस को लूटा सफ़ेद चोला ओढ़े
माल जम के गाला गुटा

माँस मच्छी जो मिला सब खा गए
मानव के भेस में देखो दानव आ गए

नाम भगवान् का पैसा अंदर किये
भ्र्ष्ट हर एक दर हर एक मंदिर किये

अब सजा पापों की जब है मिलाने लगी
दुनियाँ थर थर दर से है हिलने लगी

होगी ना हमसे भूल सिख मिल गयी है बाबा
होगी ना हमसे भूल सिख मिल गयी है

हम बच्चे है तेरे भोले अब तो माफ़ करना
अब तो माफ़ करना

मैं फंसा परदेस में
मेरी अम्मा बेटियां हा रोये
मैं फंसा परदेस में
मेरी अम्मा बेटियां हा रोये

ऐसा भी क्या गुनाह किया रे
मानुस पिंजरे में रोये भोले
ऐसा भी क्या गुनाह किया रे
मानुस पिंजरे में रोये भोले

थक गए सह सह बीतियाँ होये
थक गए सह सह बीतियाँ होये

फिर से वही महका सा आँगन हो

जब चाहे उड़ जाए
जब चाहे मूड जाए
जब चाहे उड़ जाए
जब चाहे मूड जाए
अपने देस को

फिर से वही महका सा आँगन हो
फिर से वही महका सा आँगन हो

Phirse Wohi Video

Play "Phirse Wohi"
On Jio Saavn

Post a Comment

0 Comments