Main Agar Kahoon Lyrics - Sonu Nigam | Om Shanti Om

Main Agar Kahoon Lyrics from Om Shanti Om is a Superhit Hindi Romantic song sung by Sonu Nigam, Shreya Ghosal. Main Agar Kahoon song lyrics are written by Javed Akhtar while the music is produced by Vishal Dadlani, Shekhar Ravjiani. In this post, you will find the lyrics and the music video of Main Agar Kahoon Song starring Shahrukh Khan, Deepika Padukone, Shreyas Talpade.

Main Agar Kahoon Lyrics - Sonu Nigam | Om Shanti Om
Main Agar Kahoon Lyrics - Om Shanti Om

Main Agar Kahoon Song Details

Song Title: Main Agar Kahoon
Singer: Sonu Nigam, Shreya Ghosal
Music: Vishal Dadlani, Shekhar Ravjiani
Lyrics: Javed Akhtar
Cast: Shahrukh Khan, Deepika Padukone, Shreyas Talpade
Music Label: T-Series
Movie: Om Shanti Om
Director: Farah Khan
Release Date: 9 November 2007

Main Agar Kahoon Lyrics in Hindi

तुमको पाया है तोह जैसे खोया हूँ
केहना चाहूँ भी तोह तुमसे क्या कहूँ
तुमको पाया है तोह जैसे खोया हूँ
केहना चाहूँ भी तोह तुमसे क्या कहूँ
किसी जबां में भी वो लफ़्ज़ ही नहीं
की जिन में तुम हो क्या तुम्हें बतां सकूँ

मैं अगर कहूँ तुमसा हसीं
कायनात में नहीं है कहीं
तारीफ ये भी तोह
सच है कुछ भी नहीं
तुमको पाया है तोह जैसे खोया हूँ

शोखियों में डूबी ये अदायें
चेहरे से झलकी हुई हैं
ज़ुल्फ़ की घनी घनी घटायें
शान से ढलकी हुई हैं

लेहराता आँचल है जैसे बादल
बाहों में भरी है जैसे चाँदनी
रूप की चाँदनी

मैं अगर कहूँ ये दिलकशी
है नहीं कहीं ना होगी कभी
तारीफ ये भी तोह
सच है कुछ भी नहीं
तुमको पाया है तोह जैसे खोया हूँ

तुम हुये मेहरबान, तोह ये दासतान
तुम हुये मेहरबान, तोह ये दासतान
अब तुम्हारा मेरा एक है कारवां
तुम जहाँ मैं वहाँ

मैं अगर कहूँ हमसफ़र मेरी
अप्सरा हो तुम या कोई परी
तारीफ ये भी तोह
सच है कुछ भी नहीं

तुमको पाया है तोह जैसे खोया हूँ
केहना चाहूँ भी तोह तुमसे क्या कहूँ
किसी जबां में भी वो लफ़्ज़ ही नहीं
की जिन में तुम हो क्या तुम्हें बतां सकूँ

मैं अगर कहूँ तुमस हसीं
कायनात में नहीं है कहीं
तारीफ ये भी तोह
सच है कुछ भी नहीं

Written By: Javed Akhtar

More Songs From Om Shanti Om

'Main Agar Kahoon' Video Song

Credits: T-Series

Main Agar Kahoon Lyrics in English

Tumko Paya Hai Toh Jaise Khoya Hoon
Kehna Chaahun Bhi Toh Tumse Kya Kahoon
Tumko Paya Hai Toh Jaise Khoya Hoon
Kehna Chaahun Bhi Toh Tumse Kya Kahoon
Kisi Zabaan Mein Bhi Vo Lafz Hi Nahin
Ki Jin Mein Tum Ho Kya Tumhe Bataan Sakoon

Main Agar Kahoon Tumsa Haseen
Kaynat Mein Nahi Hai Kahin
Taarif Ye Bhi Toh
Sach Hai Kuch Bhi Nahi
Tumko Paya Hai Toh Jaise Khoya Hoon

Shokhiyon Mein Doobi Ye Adayein
Chehre Se Jhalki Huyi Hain
Zulf Ki Ghani Ghani Ghatayein
Shaan Se Dhalki Huyi Hain

Lehrata Aanchal Hai Jaise Badal
Bahon Mein Bhari Hai Jaise Chandni
Roop Ki Chandni

Main Agar Kahoon Ye Dilkashi
Hai Nahi Kahin Na Hogi Kabhi
Taarif Ye Bhi Toh
Sach Hai Kuch Bhi Nahi
Tumko Paya Hai Toh Jaise Khoya Hoon

Tum Huye Meherbaan, Toh Ye Dastaan
Tum Huye Meherbaan, Toh Ye Dastaan
Ab Tumhara Mera Ek Hai Karwaan
Tum Jahan Main Wahan

Main Agar Kahoon Humsafar Meri
Apsara Ho Tum Ya Koi Pari
Taarif Ye Bhi Toh
Sach Hai Kuch Bhi Nahi

Tumko Paya Hai Toh Jaise Khoya Hoon
Kehna Chaahun Bhi Toh Tumse Kya Kahoon
Kisi Zabaan Mein Bhi Vo Lafz Hi Nahin
Ki Jin Mein Tum Ho Kya Tumhe Bataan Sakoon

Main Agar Kahoon Tumsa Haseen
Kaynat Mein Nahi Hai Kahin
Taarif Ye Bhi Toh
Sach Hai Kuch Bhi Nahi

Post a Comment

Previous Post Next Post